Tuesday, December 7, 2010

लिखना बहुत कठिन है,बिकना बहुत सरल है.........

                                      नैनो की वीथियों में पीडाओ का तरल है
                                  कागज के जिस्म पर ये स्याही नहीं गरल है
                                  सिक्को से लेखनी का कद कैसे नापियेगा
                                 लिखना बहुत कठिन है,बिकना बहुत सरल है.........




                               जमी बेच देंगे, गगन बेच देंगे
                              कलि बेच देंगे,सुमन बेच देंगे
                              कलम के सिपाही अगर सो गए तो
                              वतन के मुहाफ़िज़ वतन बेच देंगे.........

No comments: